आगन्तुक संख्या
web counter
 
शर्करा रसायन अनुभाग के उद्देश्य
1
गन्ने की नवविकसित जीनोटाइप्स का रसोगुण अध्ययन करना ताकि जीनोटाइप्स को शीघ्र, मध्य–देर एवं देर से पकने वाले समूहों में वर्गीकृत किया जा सके और प्रजाति रिलीज की जा सके।
2
स्वीकृत होनहार गन्ने की प्रजातियों में स्टेलिंग प्रभाव का अध्ययन कर प्रजातियो को चयनित करना जिससे यह ज्ञात हो सके कि कौन-कौन सी प्रजातियॉं न्यूनतम् स्टेलिंग प्रदर्शित करती हैं ताकि लेट क्रसिंग सीजन में अपेक्षित चीनी परता मिल सके।
3
विभिन्न चीनी मिलों (सहकारी, निगम, निजी क्षेत्र) में समय–समय पर कम चीनी परता होने की स्थिति में वहॉं जाकर विभिन्न कारणों की, विश्लेषण के आधार पर जानकारी कर मिल प्रबन्धन को अवगत कराना जिससे अपेक्षित चीनी परता मिल सके।
4
गन्ने की फसल पर दैवी आपदाओं के कारण रस गुणवत्ता पर पड़ने वाले कुप्रभाव का अध्ययन करना एवं समुचित सुझाव देना ताकि चीनी परता की गिरावट को नियंत्रित किया जा सके।
5
विभिन्न स्वीकृत होनहार नवविकसित गन्ने की प्रजातियों का शुगर एक्युमुलेशन पैटर्न पर अध्ययन करना ताकि प्रजातियों की पूर्ण शर्करा क्षमता का समयानुसार दोहन किया जा सके।
6
उ0प्र0 गन्ना शोध परिषद्, शाहजहॉंपुर के अधीनस्थ विभिन्न अनुभागों द्वारा किये जा रहे परीक्षणों से उपचार के अनुसार प्राप्त रस एवं गन्ने के न्यादर्शों का रासायनिक विश्लेषण कर ब्रिक्स, सुक्रोज, प्योरिटी, पोल प्रतिशत इन केन एवं फाइबर इस्टीमेशन करना ताकि रस गुणवत्ता की दृष्टि से उपचार का प्रभाव ज्ञात किया जा सके।