आगन्तुक संख्या
web counter
उद्देश्य

परिचय « उद्देश्य

उ0प्र0 गन्ना शोध परिषद् के प्रमुख उद्देश्य

1
गन्ना विकास एवं उत्पादन के विभिन्न पहलुओं पर शोध कार्य करना।
2
अधिक उपज एवं चीनी परता देने वाली रोगरोधी नवीन गन्ना प्रजातियों का विकास करना
3
उ0प्र0 के विभिन्न चीनी मिल परिक्षेत्रों में मृदा सर्वेक्षण, मृदा परीक्षण, मृदा उर्वरा मानचित्र तैयार करना तथा खादीय सुझाव/संस्तुतियॉं देना।
4
परम्परागत विधियों एवं आधुनिक जैव प्रौद्योगिकी द्वारा गन्ना प्रजातियों का सुधार करना।
5
गन्ने की विभिन्न प्रजातियों की अनुकूलता पर विभिन्न वातावरण एवं मृदा अवस्था में कायिकीय, भौतिकीय एवं दैहिकीय अध्ययन करना।
6
गन्ने की उपज एवं शर्करा पर रोग–कीट आपतन, सूखा, पाला, जलप्लावन आदि द्वारा पड़ने वाले प्रभावों से सम्बन्धित जैव–रासायनिक परिवर्तनों का अध्ययन करना।
7
अधिक उपज, चीनी का परता तथा रोगरोधी गन्ना प्रजातियों का क्षेत्रीय अनुकूलता के अनुरूप विकास एवं प्रतिकूल परिस्थितियों जैसे–सूखा, ऊसर, सिंचित, असिंचित, पाला, जलप्लावन एवं देर से बुवाई हेतु उपयुक्त गन्ना प्रजातियों का चयन एवं समुचित कृषि प्रबन्ध तकनीकी का विकास करना।
8
अधिकतम् गन्ना एवं चीनी उत्पादन हेतु मितव्ययी कर्षण क्रियाओं का विकास करना।
9
प्रदेश के विभिन्न मिल क्षेत्रों में वितरण हेतु नवीन अवमुक्त प्रजातियों का अभिजनक बीज गन्ना उत्पादन एवं वितरण करना।
10
गन्ने में रोग एवं कीट नियंत्रण प्रबन्धन।
11
विभिन्न प्रकार की मृदा जलवायु परिस्थितियों में उत्तम गुड़ उत्पादन हेतु उपयुक्त गन्ना प्रजातियों की पहचान/चयन करना।
12
मृदा तथा फसल में प्रयुक्त किये गये विभिन्न कीटनाशी रसायनों का समय–समय पर तथा फसल कटाई उपरान्त रस एवं मृदा में नाशि–कीट रसायनों की अवशेष मात्रा का विश्लेषण करना।
13
गन्ने की नवविकसित संततियों का रस–गुण अध्ययन करना ताकि उन्हे शीघ्र एवं मध्य  देर से पकने वाले समूहों में वर्गीकृत किया जा सके।