आगन्तुक संख्या
web counter
 

उ0प्र0 गन्ना शोध परिषद् की नियमावली के नियम–40 के अधीन बनायी गयी तथा नियम–55 के अधीन अध्यक्ष, गवर्निंगबाडी तथा सभापति द्वारा अनुमोदित

18-अनुशासनिक कार्यवाही
18–2 उन सभी पदों जिनका ग्रेड वेतन रु0 4200/– अथवा कम है, उसके दण्डाधिकारी परिषद् के निदेशक या सक्षम अधिकारी जिसे इस कार्य गवर्निंगबाडी द्वारा अधिकृत किया गया हो तथा उन पदों जिनका ग्रेड वेतन रु0 4200/– से अधिक है, उसके दण्डाधिकारी ’’चेयरमैन’’ होंगे। उन पदों जिनका ग्रेड वेतन रु0 5400/– से अधिक है, दण्ड देने का अधिकार चेयरमैन को गवर्निंगबाडी से अनुमोदन प्राप्त करने पर होगा।
18–3 परिषद् के कर्मचारियों के प्रयोजन हेतु निम्नलिखित कार्य एवं व्यवहार दुराचरण माने जायेंगे :–
(1)सेवानियमावली के किसी नियम को जो समय–समय पर कर्मचारियों पर संशोधनों एवं परिवर्तनों सहित लागू किये गये हों, ऐसे नियमों का अथवा नियुक्ति आदेश में दी गयी शर्तों का उल्लंघन।
(2)जानबूझ कर परिषद् के किसी वरिष्ठ कर्मचारी के न्याय संगत एवं कार्यहित में दिये गये आदेश की अवहेलना करना अथवा उपेक्षा करना।
(3)अकेले या सामूहिक रूप से अनुचित ढंग से कार्य बन्द करना, कार्य में बाधा डालना अथवा दूसरों को कार्य बन्द करने या कार्य न करने के लिये उकसाना।
(4)परिषद् के संस्थान, अभिजनन केन्द्र, शोध केन्द्र, बीज सम्वर्धन प्रक्षेत्र अथवा अन्यत्र कार्य स्थल अथवा कार्यालय के परिसर में परिषद् कर्मचारियों की सम्पत्ति की चोरी, धोखाधड़ी या बेईमानी करना।
(5)सक्षम अधिकारी की स्वीकृति लिये बिना अपने कार्य से अनुपस्थित रहना। यदि सक्षम अधिकारी इस बात से संतुष्ट हो कि ऐसी अनुपस्थिति का समुचित कारण है तो उसे जानबुझ कर अनुपस्थिति नही माना जायेगा।
(6)कार्य पर विलम्ब से उपस्थित होने का आदी होना।
(7)आबंटित कार्यों एवं दायित्वों की उपेक्षा करना।
(8) बिना परिषद् की स्वीकृति प्राप्त किये किसी निजी व्यापार में अपने को लगाना अथवा कहीं अन्यत्र पूर्णकालिक या अंशकालिक रूप से सेवायोजन प्राप्त करना।
(9)प्रत्यक्ष अथवा अप्रत्यक्ष रूप से किसी प्रकार का अनाधिकार पूर्ण लाभ प्राप्त करना अथवा घूस लेना।
(10)नियुक्ति हेतु अपने साक्षात्कार के समय या प्रार्थना–पत्र में ऐसा तथ्य प्रस्तुत करना जो बाद में चल कर गलत साबित हो।
(11)परिषद् के निदेशक की अनुमति के बिना कार्यालय की चहार दीवारी के अन्दर किसी प्रकार की सभा करना।
(12)परिषद् की कोई गोपनीय बात अथवा कोई गोपनीय पत्र पत्रावली आदि किसी बाहरी व्यक्ति अथवा संस्थान को बताना या दिखाना।
(13)परिषद् के किसी शोध संस्थान, अभिजनन संस्थान, शोध केन्द्र, बीज सम्वर्धन प्रक्षेत्र अथवा अन्यत्र कार्यस्थल या कार्यालय के परिसर में किसी कर्मचारी को धमकाना अथवा तंग करना।
(14)कोई ऐसा कार्य या व्यवहार करना जो परिषद् की या उसके किसी कर्मचारी की ख्याति को प्रभावित करे अथवा जिससे परिषद् का अनुशासन भंग होता हो या उस पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ता हो।
(15)प्रस्तर–17 के प्राविधान के विपरीत कोई व्यवहार करना।
(16)अन्य कोई ऐसा कार्य या व्यवहार करना जो परिषद् की गवर्निंगबाडी, चेयरमैन, निदेशक या अन्य सक्षम अधिकारी के स्थाई या प्रशासनिक आदेशों द्वारा किया जाना निषिद्ध किया गया हो।
1 2 3 4 5 6 7 8 9 10 11 12 13 14 15 16 17 18 19