आगन्तुक संख्या
web counter
 

उ0प्र0 गन्ना शोध परिषद् की नियमावली के नियम–40 के अधीन बनायी गयी तथा नियम–55 के अधीन अध्यक्ष, गवर्निंगबॉडी तथा सभापति द्वारा अनुमोदित

18-अनुशासनिक कार्यवाही
18–4 जहॉं कहीं इस बात का विश्वास हो कि कोई कर्मचारी दुराचरणग्रस्त है तो दण्डाधिकारी उसकी जॉच हेतु एक जॉच अधिकारी नामांकित कर सकता है जो सम्बन्धित कर्मचारी के आचरण की जॉंच करेगा।
18–5 ऐसे आदेश होने पर जॉंच अधिकारी सम्बन्धित कर्मचारी का स्पष्टीकरण आरोपों के संदर्भ में मॉंगेगा। इस हेतु जॉंच अधिकारी जो उचित समझे उतने दिन का समय दिया जायेगा तथा कर्मचारी निर्धारित अवधि में अपना स्पष्टीकरण देगा।
18–6 कर्मचारी के स्पष्टीकरण प्राप्त हो जाने के बाद जॉंच अधिकारी दण्डाधिकारी को अपनी जॉंच एवं संस्तुति प्रस्तुत करेगा। यदि दण्डाधिकारी की दृष्टि में स्पष्टीकरण संतोषजनक प्रतीत हो तो कोई अग्रिम कार्यवाही नहीं की जायेगी तथा मामला वहीं समाप्त कर दिया जायेगा।
18–7 यदि जॉंच के आधार पर स्पष्टीकरण संतोषजनक नही पाया जाय अथवा निर्धारित अवधि में कर्मचारी द्वारा कोई स्पष्टीकरण प्रस्तुत नही किया जाय तो दण्डाधिकारी आरोपों की गुरुता को देखते हुये :–
(अ)कर्मचारी को चेतावनी दे सकते हैं अथवा
(ब)जॉंच अधिकारी को निर्देश दे सकते हैं कि कर्मचारी के विरुद्ध आरोप–पत्र प्रसारित किया जाये।
18–8 जॉंच अधिकारी कर्मचारी को लिखित आरोप–पत्र देते समय आरोपों का स्पष्टीकरण हेतु कम से कम 15 दिन का समय देंगे।
18–9 आरोपों की सत्यता ज्ञात करने हेतु जॉंच अधिकारी जॉंच हेतु जैसा कि आवश्यक समझें, किसी भी सम्बन्धित व्यक्ति या रिकार्ड की सहायता लेने तथा आरोपित कर्मचारी को यदि कर्मचारी ऐसा चाहें तो व्यक्तिगत सुनवाई तथा साक्ष्यों का परीक्षण करने का अवसर देंगे।
18–10 जॉंच पूर्ण होने के बाद जॉंच अधिकारी अपनी रिपोर्ट दण्डाधिकारी को प्रस्तुत करेंगे इसके बाद मामले से सम्बन्धित उपलब्ध समस्त तथ्यों को देखकर प्रस्तर 18–2 में उल्लिखित दण्डाधिकारी प्रावधानानुसार दण्ड देने हेतु कर्मचारी के प्रस्तावित दण्डों का उल्लेख करते हुये एक लिखित नोटिस देंगे जिसका उत्तर देने हेतु कर्मचारी को कम से कम दो सप्ताह का समय दिया जायेगा। कर्मचारी यदि चाहें तो दण्डाधिकारी उसे व्यक्तिगत सुनवाई का अवसर भी देंगे। इसके बाद दण्डाधिकारी कर्मचारी के मामले में आरोपों की गुरुता के आधार पर आवश्यक दण्ड देने हेतु आदेश पारित करेंगे।
18–11 जॉंच के दौरान आरोपों की गम्भीरता को देखते हुये यदि दण्डाधिकारी यह समझते हैं कि कर्मचारी के विरुद्ध लगाये गये आरोप गम्भीर प्रकृति के हैं तो कर्मचारी को सेवा से निलम्बित करने का आदेश प्रसारित कर सकते हैं। परिषद् का कर्मचारी यदि किसी अपराध के परिणामस्वरूप अथवा किसी अन्य कारणोंवश जेल में 03 दिनों से अधिक की अवधि के लिये बन्द हो जाता है तो जेल में बन्द किये जाने की तिथि से ही वह परिषद् की सेवाओं से स्वत: निलम्बित माना जायेगा।
18–12 परिषद् का कर्मचारी जो निलम्बित किया जाता है निलम्बन की अवधि में परिषद् से जीवन निर्वाह भत्ता जो उसके औसत वेतन के 1/2 से अधिक न होगा तथा 06 माह की अवधि के उपरान्त अधिक से अधिक औसत वेतन के 3/4 भाग तक बतौर निर्वाह भत्ता पाने का अधिकारी होगा। साथ ही इस अवधि में वेतन से सम्बन्धित अनुपात की धनराशि पर देय अन्य भत्ते इस प्रकार देय होंगे जैसा कि निर्वाह भत्ते की धनराशि मात्र ही देय वेतन हो।
1 2 3 4 5 6 7 8 9 10 11 12 13 14 15 16 17 18 19