आगन्तुक संख्या
web counter
 

उ0प्र0 गन्ना शोध परिषद् की नियमावली के नियम–40 के अधीन बनायी गयी तथा नियम–55 के अधीन अध्यक्ष, गवर्निंगबॉडी तथा सभापति द्वारा अनुमोदित

4-पदों का सृजन, समापन, न्यूनीकरण तथा उनके वेतन भत्तों का निर्धारण

4–2

परिषद् के मुख्यालय हेतु वर्तमान समय में सृजित पद तथा उनके वेतनमान का विवरण संलग्न अनुसूची–1 में दिया गया है। परिषद् के विभिन्न गन्ना शोध संस्थानों, शोध केन्द्रों, गन्ना अभिजनन केन्द्रों, बीज सम्वर्धन प्रक्षेत्रों तथा अन्य स्थानों हेतु सृजित पद तथा उनके वेतनमान का विवरण संलग्न अनुसूची–2 में दिया गया है।

    उपरिलिखित अनुसूची–1 तथा 2 में सृजित पदों की संख्या में वे पद भी सम्मिलित हैं जिनका सृजन गन्ना शोध संगठन में कार्यरत तथा नोशनल प्रतिनियुक्ति पर माने गये कर्मचारियों तथा अधिकारियों के विलयन हेतु उनकी आवश्यकताओं को ध्यान में रखते हुये किया गया है। परिषद् में विलयन हेतु प्राप्त विकल्पों की स्थिति तथा अन्य आवश्यकताओं को देखते हुये परिषद् नोशनल प्रतिनियुक्ति के कर्मचारियों/अधिकारियों हेतु पदों की संख्या का निर्धारण करेगी। परिषद् को यह अधिकार होगा कि इन पदों की संख्या में आवश्यकतानुसार परिवर्तन करे और इन पदों को प्रतिनियुक्ति पर आये कर्मचारियों/अधिकारियों द्वारा भरे अथवा सीधी भर्ती द्वारा भरे।

5–परिषद् मे किसी पद पर सीधी भर्ती के लिये यह आवश्यक है कि अभ्यर्थी नीचे लिखी किसी श्रेणी में आता हो :–

(अ) भारत का नागरिक हो अथवा

(ब) तिब्बती शरणार्थी जो भारत में पहली जनवरी, 1962 से पूर्व भारत में स्थाई रूप से बसने के विचार से आया हो अथवा

(स) भारत का मूल निवासी व्यक्ति जो पाकिस्तान, वर्मा, श्रीलंका तथा पूर्वी अफ्रीका के कीनिया, यूगांडा तथा तन्जानियॉं (भूतपूर्व टांगानिका तथा जन्जीवार) देश से भारत में स्थायी रूप से बसने के आशय से आये हैं।

प्रतिबन्ध यह है कि उपरोक्त खण्ड (ब) व(स) श्रेणी के अभ्यर्थी वही व्यक्ति हो सकता है, जिसे राज्य सरकार द्वारा पात्रता प्रमाण–पत्र दिया गया हो।
   अग्रेत्तर प्रतिबन्ध यह है कि उपरोक्त (ब) श्रेणी के अभ्यर्थी के लिये डिप्टी इंस्पेक्टर जनरल आफ पुलिस इन्टेलीजेंस ब्रान्च, उ0प्र0 से पात्रता प्रमाण–पत्र प्राप्त कर प्रस्तुत करना आवश्यक है।

   पुन: प्रतिबन्ध यह भी है कि उपरोक्त (स) श्रेणी के अभ्यर्थी के विषय में कोई भी पात्रता प्रमाण–पत्र 01 वर्ष से अधिक की अवधि के लिये नहीं जारी किया जायेगा और ऐसे अभ्यर्थी को 01 वर्ष की अवधि से आगे सेवा में तभी रखा जा सकेगा जब उसने इस बीच भारत की नागरिकता प्राप्त कर ली हो।

नोट :–एक अभ्यर्थी, जिसके लिये पात्रता का प्रमाण–पत्र आवश्यक है लेकिन उक्त प्रमाण–पत्र न तो जारी हुआ है न ही जारी करने से मना किया गया है, ऐसे अभ्यर्थी को परीक्षा अथवा इन्टरव्यू में शामिल होने की अनुमति दी जा सकती है और उसे अनन्तिम रूप से नियुक्त भी किया जा सकता है बशर्ते ​िक वह अपने लिये आवश्यक पात्रता प्रमाण–पत्र प्राप्त कर ले

1 2 3 4 5 6 7 8 9 10 11 12 13 14 15 16 17 18 19