आगन्तुक संख्या
web counter
 

उ0प्र0 गन्ना शोध परिषद् की नियमावली के नियम–40 के अधीन बनायी गयी तथा नियम–55 के अधीन अध्यक्ष, गवर्निंगबॉडी तथा सभापति द्वारा अनुमोदित

6-अभ्यर्थियों के लिये शैक्षिक तथा अन्य योग्यतायें :–
6–1

सीधी भर्ती द्वारा विभिन्न पदों पर नियुक्ति हेतु अभ्यर्थी में आवश्यक योग्यताओं का विवरण अनुसूची–3 में अंकित है

6–2

ऐसे अभ्यर्थियों को जिन्होंने टैरीटोरियल आर्मी में कम से कम 02 वर्ष तक कार्य किया है अथवा जिन्होंने एन0सी0सी0 का ’’बी’’ सर्टिफिकेट प्राप्त किया है, अन्य बातों के समान रहते हुये सीधी भर्ती में वरीयता दी जायेगी।
7-आयु :–

सीधी भर्ती के लिये अभ्यर्थियों की आयु सामान्यत: 18-21 वर्ष से कम व 35 वर्ष से अधिक नहीं होनी चाहिये। आयु का उपरोक्त निर्धारण जिस वर्ष नियुक्ति की जानी है, उस वर्ष जनवरी की पहली तारीख (यदि नियुक्ति हेतु प्रकाशन पहली जनवरी से 30 जून के बीच हो) अथवा 01 जुलाई (यदि नियुक्ति हेतु प्रकाशन 01 जुलाई और 31 दिसम्बर के बीच हो) को आधार मानकर किया जायेगा।
प्रतिबन्ध यह है कि :–

(1) अनुसूचित जाति अथवा अनुसूचित जनजाति के अभ्यर्थियों के विषय में तथा ऐसे अन्य वर्ग के अभ्यर्थियों के विषय में, जिनका शासन द्वारा समय–समय पर प्राख्यापन किया जाये, ऐसे अभ्यर्थियों की अधिकतम् आयु की सीमा इतना अधिक होगी जितनी कि शासन द्वारा समय–समय पर निर्धारित किया जाय।

(2) सरकारी सेवा में कार्यरत अभ्यर्थियों के विषय में अधिकतम् आयु सीमा 05 वर्ष अधिक होगी अग्रेत्तर प्रतिबन्ध यह भी है कि परिषद् को विभिन्न पदों हेतु अधिकतम व न्यूनतम् आयुसीमा में परिवर्तन करने का अधिकार है।
    परिषद् द्वारा विभिन्न पदों हेतु निर्धारित आयुसीमा का विवरण संलग्न अनुसूची–3 में अंकित है।

8-चरित्र एवं वैवाहिक प्रास्थिति :–

चरित्र : परिषद् के अधीन किसी भी पद पर सीधी भर्ती के लिये अभ्यर्थी का चरित्र ऐसा होना चाहिये कि वह नियोजन के लिये सभी प्रकार से उपयुक्त हो सके। परिषद् द्वारा इस सम्बन्ध में समाधान किया जायेगा।

नोट : संघ सरकार, राज्य सरकार या किसी भी निगम अथवा संस्था द्वारा पदच्युत व्यक्ति परिषद् की सेवा में किसी पद पर नियुक्ति के लिये पात्र नहीं होंगे। नैतिक अधमता के किसी अपराध के लिये दोषसिद्ध व्यक्ति भी पात्र न होंगे।
वैवाहिक प्रास्थिति : परिषद् के अधीन सेवा में किसी पद पर नियुक्ति के लिये ऐसा पुरुष अभ्यर्थी पात्र न होगा जिसकी एक से अधिक पत्नियॉं जीवित हों या ऐसी कोई महिला अभ्यर्थी पात्र न होगी जिसने ऐसे पुरुष से विवाह किया हो जिसकी पहले से एक पत्नी जीवित हो। परन्तु परिषद् की गवर्निंगबाडी किसी व्यक्ति को इस नियम के प्रवर्तन से छूट दे सकती है यदि उसे यह समाधान हो जाये कि ऐसा करने के लिये विशेष कारण विद्यमान है।

 
1 2 3 4 5 6 7 8 9 10 11 12 13 14 15 16 17 18 19