आगन्तुक संख्या
web counter
 
उ0प्र0 गन्ना शोध परिषद् की प्रमुख शोध उपलब्धियॉं
11
प्रेसमड तथा अपशिष्ट कार्बनिक पदार्थों द्वारा केंचुआ खाद उत्पादन की विधि विकसित की गयी। यह विधि प्रदेश के अनेक चीनी मिलों द्वारा अपनाई जा रही है।
12
ट्रेंच विधि के साथ अन्त: फसली अपनाकर सामान्य विधि के साथ अन्त: फसली की तुलना में 25–30 प्रतिशत तक उपज में वृद्धि एवं 0.5 यूनिट शर्करा में वृद्धि होती है। इस प्रकार संशोधित ट्रेंच विधि से लगभग रु0 40,000/हे0 अतिरिक्त शुद्ध लाभ प्राप्त होता है। अत: यह विधि गन्ना कृषकों एवं चीनी मिलों दोनों के लिये उपयोगी सिद्ध हुई है तथा प्रदेश के विभिन्न चीनी मिलों द्वारा अपनाई जा रही है।
13
प्रतिवर्ष नवीन प्रजातियों का लगभग 2.0 लाख कुन्तल ब्रीडर सीड उत्पादित कर विभिन्न गन्ना विकास परिषदों/चीनी मिलों पर आधार पौधशालाओं की स्थापना हेतु वितरण किया जा रहा है।
 
1 2 3