आगन्तुक संख्या
web counter
 
गन्ना प्रजातीय विकास


प्रजनन परियोजना के अंतर्गत गन्ने की होनहार प्रजातियों के विकास हेतु चल रहे प्रयोग
1
संकरण विधि द्वारा अधिक उपज एवं शर्करा प्रतिशत देने वाली रोगरोधी प्रजातियों का विकास करना।
2
कोयम्बटूर, सेवरही एवं शाहजहॉंपुर मं प्रभावित संकरणों के फ्लफ से गन्ने की पौध (सीडलिंग) तैयार करना।
3
उन्नतशील प्रजातियों के चयन हेतु गन्ना बीज की पौध का शीत काल मे कटाई उपरांत पेड़ी का अध्ययन।
4
सीडलिंग अवस्था में चुनी गयी होनहार संततियों का सी–1 (क्लोनल–1) पीढ़ी में अध्ययन।
5
सी–1पीढ़ी से चयन की गयी होनहार प्रजातियों का प्राथमिक प्रजातीय परीक्षण (पी0वी0टी0) में अध्ययन करना।
6
प्रदेश की विभिन्न मृदा जलवायु मे स्वीकृति हेतु शीघ्र तथा मध्य–देर से पकने वाली होनहार प्रजातियों को चीनी मिल/शोध प्रक्षेत्र पर पौधो एव पेड़ो का अध्ययन करना।
7
स्वीकृत एवं होनहार प्रजातियों का प्रदेश के विभिन्न क्षेत्रों में शरद् एवं बसन्तकालीन परीक्षणों में अध्ययन करना।
8
प्रमापीय प्रजातीय परीक्षण एवं समरूप जातीय परीक्षण (बसन्त) की पेड़ी का अध्ययन करना।
9
अखिल भारतीय समन्वित शोध परियोजना ए0आर्इ0सी0आर0पी0(गन्ना) के अन्तर्गत चयनित शीघ्र, एवं मध्य–देर से पकने वाली प्रजातियों का अध्ययन करना।
1 2 3 4